लाल बहादुर शास्त्री जी के 113 वी जयंती पर हुई इनके नाम की पुस्तक पब्लिश |

लाल बहादुर शास्त्री जी के 113 वी जयंती पर हुई इनके नाम की पुस्तक पब्लिश |

लाल बहादुर शास्त्री भारत के दूसरे प्रधानमंत्री थे | इनके 113 वी जयंती के उपलक्ष में 2 october को दिल्ली में इनके द्वारा समाज के लिए किये गए अच्छे कामो के लिए इनके नाम का पुस्तक लाल बहादुर शस्त्र : पॉलिटिक्स एंड बियोंड नामक पुस्तक ”रूपा पब्लिकेशन ” द्वारा प्रकाशित किया गया है |

इनका जन्म 2 अक्टूबर 1960 को उत्तर प्रदेश के वनारसी जिले के मुगलसराय नामक एक छोटे से गांव में मध्यवर्गीय हिन्दू परिवार में हुआ था |

लाल बहादुर शास्त्री भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दल से 9 जून 1964 को भारत के दूसरे प्रधानमंत्री पद के लिए चुने गए थे |

लाल बहादुर शास्त्री जी केवल 19 महीने के लिए हमारे देश के प्रधानमंत्री रहे थे क्योंकि इसी बीच उनकी मृत्यु अचानक बीमार पड़ने से 11 january 1966 में हो गई थी |

जय किसान ,जय जवान

शास्त्री जी भले ही बहुत ही कम समय के लिए हमारे देश के प्रधानमंत्री रहे थे किंतु इन्हीं कम समय में हमारे देश के सभी वर्गो के लोगो के लिए हितकारी कार्य किये और किसान वर्गों को सम्बोधित करते हुए , जय किसान ,जय जवान का नारा लगाया था |

लाल बहादुर शास्त्र :पॉलिटिक्स एंड बियोंड (पुस्तक )

इस पुस्तक में शास्त्री जी के राजनीतिक कार्य और हितकार्य की रचना की गई है | जिस प्रकार शास्त्री जी केवल 19 महीने में भारत के सभी वर्गों के लोगों को ध्यान में रखते हुए उनके विकास के लिए हितकार्य किए थे | उसी के अनुसार इस पुस्तक को लीखा गया है | इसके अंतर्गत ईमानदारी, नम्रता, सादगी, संकोची भावना, उदारवाद और सभी के प्रति समान प्रेम को अंकित किया गया है | साथ ही साथ हरित क्रांति को संबोधित करते हुए संदीप शास्त्री ने लोगों को अपने खाधान और बीच के लिए आत्मनिर्भ होने के लिए प्रकाश डाला है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.