आखिर क्यों अक्षय कुमार मार्शेल आर्ट को छोर कर बॉलीवुड को अपनाये ?

आखिर क्यों अक्षय कुमार मार्शेल आर्ट को छोर कर बॉलीवुड को अपनाये  ?

बॉलीवुड के मशहुर नायक अक्षय कुमार जो 90 से भी अधिक हिंदी फिल्मो में काम कर चुके है |इनका जन्म 9 सितम्बर 1967 को भारत के अमृतसर में हुआ | इनका नाम राजिव हरीओम भाटिया रखा गया था |आगे चल कर अपना नाम बदल कर अक्षय कुमार रख लिए |

बॉलीवुड के सुपर हिट अभिनेता अक्षय कुमार जो अपने नाम से ज्यदा खिलाड़ी भईया के नाम से मशहुर है |जिन्होंने 1990 से लेकर अब तक ज्यदा से ज्यदा हिट पर हिट फिल्म बॉलीवुड में करते आये है |आज हमलोग उनके 52 वी जन्म दिन के मौके पर उनको बहुत सारे शुभकामनाये देते हुए ,उनके जीवन की कुछ आनोखी और दिलचस्प बातो को यहाँ जानेंगे |

इनका बचपन दिल्ली के चांदनीचौक में बिता |इसके बाद मुंबई के बास्को स्कूल में अपनी 12 वी तक की पढाई पूरी की |आगे की पढाई गुरुनानक खालसा collage में पूरा किया |

क्यों अक्षय मार्शेल आर्ट छौर कर बॉलीवुड में आये ?

अपनी colleg की पढाई पूरी करने के बाद | बेन्गकोक चले गए |यहाँ से मार्शेल आर्ट की शिक्षा प्राप्त करने के साथ -साथ रेस्ट्रोरेन्ट में कुक का काम करते थे |यहाँ से वापस मुंबई चले गए |यहाँ मार्शेल आर्ट की शिक्षा देना शुरू किये थे |इनके बहुत सारे स्टूडेंट्स थे |जिसमे एक फोटोग्राफर था |जिसने अक्षय को मॉडलिंग करने की सलाह दि और उसी विधार्थी ने अक्षय को एक छोटी कम्पनी में एक मॉडलिंग असायन्मेंट दिया |

इस असायन्मेंट के अनुसार अक्षय को कैमरे के सामने एक पोज़ देना होता था ,और 2 घंटे के 5000 मिलते थे |जबकि उनके एक महीने की तनखा 4000 थी |मोडल बनने का उनका सबसे बड़ा करण आर्थिक स्थितिओ का अच्छा नहीं होना था | और फिर मॉडलिंग की और अपना पूरा ध्यान देने लगे |

साल 1987 में पहली बार महेश भट्ट ने अपनी फिल्म ”आज ” में अक्षय को 7 सेकेंड की एक छोटी सी रोल ‘मार्शेल आर्ट्स इंस्ट्रकटर’ के लिये चुने थे |जिसके बाद प्रमोद चक्रवती ने अपनी फिल्म ”दीदार” में अभिनय करने का मौका दिया |

साल 1991 से अक्षय कुमार का बॉलीवुड में करियर बनना शुरू हो गया था |इस साल इनकी पहली फिल्म ”सौगंध ” रिलीज हुई थी हालाकि ये फिल्म फ्लॉप हो गयी |इस फिल्म में इनके अभिनेता रोल को काफी पसंद किया गया था |

अक्षय की दूसरी फिल्म ”खिलाड़ी ” जो साल 1992 में रिलीज हुई |पहली हिट फिल्म रही जिसकी शानदार प्रदर्शन और तारीफ़ हुई |इसके बाद तो लागातार हिट पर हिट फिल्म आने लगी |जेसे -मोहरा (1994),सबसे बड़ा खिलाड़ी (1995) ,धडकन (2000) |

1994 ये साल उनके लिया बहुत लक्की साबित हुआ |इस साल इनकी लगातार 11 फिल्म रिलीज हुई थी ,दरसल अक्षय को तेज गति से कार्य करने पसंद है | इनकी यही कविलियत के कारण अभी भी 1 साल के अंदर इनकी 3 से 4 फिल्म रीलीज हो ही जाती है |

अक्षय ना केवल एक्शन फिल्म किये है ,बल्कि कॉमेडी , रोमांटिक इन सभी फिल्म में कार्य कर के अपने आप को निखारा है |इनकी कॉमेडी फिल्म की बात करे तो , हेरा फेरी (2002),मुझसे शादी करोगी (2004),गरम मसाला (2005) ,जान -ए-मन (2006) में लागातार हर साल रीलीज हुई और हिट भी रही |

पुरस्कार

इनको प्रथम फिल्म फेयर अवार्ड , फिल्म ”अजनबी ” में ”खलनायक ” की भूमिका के लिये दिया गया था |

इनको फिल्म रुस्तेम के सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार दिया गया था |

जी सिनेमा पुरस्कार सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए |

विवाहिक जीवन –

अक्षय कुमार ने 17 january 2001 में बॉलीवुड की अभनेत्री Twinkle Khanna से शादी की | प्रशिद्ध कलाकार राजेश खनना और डिम्पल कपाड़िया के बेटी है ट्विंकल खन्ना |

ट्विंकल खन्ना
twinkle khanna

अक्षय ने ट्विंकल खन्ना को पहली बार एक फिल्म फेअर अवार्ड में देखे थे |उसी वक़्त ट्विंकल खन्ना इनको पसंद आ गयी थी |दोनों ने कई फिल्में साथ में किये और फिल्म मेला में एक साथ काम करने के बाद इनलोगों ने शादी कर ली |

Ganita Yadav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *